33rd Marriage Anniversery

13th May 2007

Tuesday, June 19, 2007

पूजयनिया माँ

इतनी शक्ति हम देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
हम चले नेक रास्ते पे हमसे
भुलकर भी कोई भुल हो ना ,

दुर अग्याँ के हो अंधेरे
तू हमें ग्याँ की रौशनी दे
हर बूराई से बचके रहे.न हम
जितनी भी दे, भली ज़ींदगी दे
बैर हो ना किसी का किसी से
भावना मन मे.न बदले कीई हो ना

हम अंधेरे में है रौशनी दे,
खो ना दे ख़ुद को हीई दुश्मनी से,
हम सज़ा पाए अपने किए की,
मौत भी हो तो सह ले खुशी से,
कल जो गुज़ारा है फ़िरसे ना गुज़रे,
आनेवाला वो कल ऐसा हो ना
हम चले नेक रास्ते पे हमसे,
भूलकर भी कोई भुल हो ना

Sunday, June 17, 2007

jokes

जब टाइटेनिक डूब रहा था और सब भाग रहे थे, तब हमारे सरदार जी ने एक अमेरिकन से पूछा- 'यहां से जमीन कितनी दूर है
जवाब मिला- 'करीब दो मिल दूर
तब सरदार जी बोले- 'अरे वाह! मैं तो बहुत अच्छा तैराक हूं।' और वह कूद गया
कूदने के बाद उन्होंने पूछा- 'जमीन किस ओर है
जवाब मिला- 'नीचे की ओर।'